Bihar Elections Result 2020: Know what can cause delay in the declaration of results today | India News

0
140

पटना: बिहार विधान सभा चुनाव २०२० में २४३ सीटों के लिए मतों की गिनती जो तीन चरणों में हुई थी, आज (१० नवंबर, २०१०) घोषित की जाएगी। इस बार परिणाम की घोषणा कोरोनावायरस महामारी के कारण अलग होगी जो अंतिम परिणाम जारी करने में कुछ देरी होने की संभावना है।

ये कारण हैं जो परिणाम घोषणा में देरी का कारण बन सकते हैं:

– पोलिंग बूथों की संख्या बढ़ाई जाए

देश में कोरोनोवायरस की स्थिति के कारण बिहार में इस बार मतदान केंद्रों की संख्या बढ़ाई गई थी। यह एक प्रमुख कारण है कि इस साल अंतिम परिणाम घोषित होने में 2 से 3 घंटे की देरी हो सकती है। चुनाव में 1 लाख 6 हजार 526 बूथ बनाए गए थे, जो पिछली बार की तुलना में लगभग 63 प्रतिशत अधिक है। 2015 के चुनावों में, 65 हजार 367 बूथ बनाए गए थे। बूथों की संख्या बढ़ने के कारण ईवीएम की संख्या में भी वृद्धि हुई है और ऐसी स्थिति में मतगणना में देरी हो रही है।

बिहार विधानसभा चुनाव परिणाम 2020 पर लाइव अपडेट का पालन करें

– VVPAT के साथ मिलान परिणाम

मानदंडों के अनुसार, यदि मतगणना के दौरान कोई भी उम्मीदवार आपत्ति उठाता है, तो ईवीएम को फिर से सील कर दिया जाता है और वोटों की संख्या VVPAT से बढ़ जाती है। इसके कारण मतगणना में देरी की उम्मीद की जा सकती है।

– पहले बैलेट पेपर की गिनती होगी

वोटों की गिनती सुबह 8 बजे शुरू होगी। चुनाव आयोग के अधिकारियों के मुताबिक, बैलट पेपर के जरिए की गई वोटिंग को सबसे पहले गिना जाएगा। ईवीएम की गिनती सुबह 8:15 बजे शुरू होगी। अधिकारियों के अनुसार, ईवीएम से एक राउंड की गणना करने में 15 से 20 मिनट लगते हैं। इसलिए पहला रुझान सुबह 8:30 बजे तक आने की संभावना है।

You May Like This:   कोरोनोवायरस COVID-19 लॉकडाउन के बीच बढ़ती कीमतों से निपटने के लिए बंगाल सरकार ने ऑनलाइन मछली बेचने के लिए ऐप लॉन्च किया भारत समाचार

– COVID-19 दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए मतगणना केंद्र

मतगणना में भी समय लगेगा क्योंकि मतगणना अधिकारियों को वायरस के प्रसार पर निगरानी रखने और स्वास्थ्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सामाजिक गड़बड़ी और COVID-19 दिशानिर्देशों का पालन करना होगा।

– इन सीटों के नतीजे पहले आ सकते हैं
जानकारी के अनुसार, पटना के 14 विधानसभा क्षेत्रों में से, फतुहा विधान सभा और बख्तियारपुर विधान सभा के लिए परिणाम पहले घोषित किया जाएगा। इन दोनों विधानसभा क्षेत्रों में मतदान केंद्रों की संख्या अन्य विधानसभा क्षेत्रों की तुलना में कम है। फतुहा विधान सभा में 405 और बख्तियारपुर विधान सभा में 410 मतदान केंद्र हैं। इसलिए, इन दोनों विधानसभा क्षेत्रों में जल्द ही परिणाम आने की संभावना है। वहीं, दीघा, कुम्हारा और बांकीपुर विधानसभा के नतीजों में देरी होगी। दीघा की गिनती लंबे समय तक जारी रहेगी।

– बिहार में तीन चरण के चुनाव के दौरान वोट प्रतिशत
बिहार विधानसभा की 243 सीटों में तीन चरणों (28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर) को वोट डाले गए थे। पहले चरण में मतदान 53.54 प्रतिशत, दूसरे चरण में 54.05 प्रतिशत और तीसरे चरण में 57.91 प्रतिशत रहा।

प्रक्रिया के दौरान COVID-19 महामारी के प्रसार से बचने के लिए कड़ी सुरक्षा और सावधानियों के बीच 38 जिलों में फैले 55 केंद्रों पर सुबह 8 बजे से मतगणना शुरू हुई। लगभग 7.30 करोड़ मतदाताओं में से 57 प्रतिशत ने महामारी की शुरुआत के बाद से देश में पहला बड़ा चुनाव होने के लिए अपने मताधिकार का प्रयोग किया है।

377 महिलाओं और एक ट्रांसजेंडर सहित कुल 3,733 उम्मीदवार मैदान में हैं।

You May Like This:   दुखी लेकिन हैरान नहीं: कांग्रेस विधायक पर 35 करोड़ के रिश्वत के आरोप में सचिन पायलट | भारत समाचार

Leave a Reply