मध्य प्रदेश बोर्ड MPBSE कक्षा 12 परिणाम 2020 mpbse.nic.in पर कैसे चेक करें, mpresults.nic.in | भारत समाचार

0
244
How to check Madhya Pradesh Board MPBSE Class 12 Results 2020 on mpbse.nic.in, mpresults.nic.in

भोपाल: मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (MPBSE) को MP बोर्ड कक्षा 12 वीं का रिजल्ट 2020 के सोमवार यानी 27 जुलाई को जारी करने की उम्मीद है। परिणाम बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट – mpbse.nic.in पर जारी किए जाएंगे। mpresults.nic.in।

स्कूल शिक्षा की प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी के अनुसार, MPBSE कक्षा के परिणाम जुलाई के तीसरे सप्ताह में जारी किए जाने थे, जो कि कुछ कारणों से, देरी से हुआ है। इस साल एमपी क्लास 12 परीक्षाओं के लिए लगभग 8.5 लाख छात्र उपस्थित हुए थे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, रिजल्ट सोमवार दोपहर 3 बजे निकलने की उम्मीद है।

छात्र अपना स्कोरकार्ड- mpbse.mponline.gov.in, results.gov.in, examresults.net और indiaresults.com पर भी देख सकते हैं।

छात्रों को सलाह दी जाती है कि वे अपने एडमिट कार्ड को सुरक्षित रखें ताकि परिणाम घोषित होने पर अपना बोर्ड विवरण भरें।

यहां आप एमपी बोर्ड 10 वीं परिणाम 2020 की जांच कर सकते हैं:

1. आधिकारिक वेबसाइट mpbse.nic.in पर जाएं
2. होमपेज पर एमपी बोर्ड 12 वीं परिणाम 2020 लिंक पर क्लिक करें
3. अपने लॉगिन क्रेडेंशियल्स जैसे रोल नंबर आदि की कुंजी और सबमिट करें
4. आपका एमपी बोर्ड 12 वीं रिजल्ट 2020 स्क्रीन पर प्रदर्शित होगा
5. डाउनलोड कर उसका प्रिंटआउट ले लें।

छात्र मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से अपने एमपी बोर्ड कक्षा 12 के परिणाम भी देख सकते हैं:

1. MPBSE मोबाइल ऐप, MP मोबाइल ऐप और Google Play Store पर उपलब्ध Fastresults ऐप।
2. विंडो ऐप स्टोर पर एमपी मोबाइल ऐप

MPBSE बोर्ड कक्षा 12 की परीक्षा 2 से 31 मार्च तक आयोजित होने वाली थी। हालांकि, बोर्ड को कुछ परीक्षा पत्रों को स्थगित करना पड़ा जो 20-31 मार्च के बीच कोरोनावायरस-प्रेरित लॉकडाउन के कारण निर्धारित किए गए थे।

You May Like This:   Stubble burning led to spike in COVID-19 deaths in Delhi, says Health Minister Satyendar Jain | India News

बोर्ड ने बाद में महत्वपूर्ण कागजात के लिए परीक्षा की घोषणा की, जो छात्रों को उच्च शिक्षा संस्थानों में प्रवेश पाने के लिए आवश्यक थे।

2019 में, लगभग 7.5 लाख छात्रों ने एमपी बोर्ड कक्षा 12 की परीक्षा दी थी, जिसमें से 76.31 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुए थे।

Leave a Reply